Hindi Shayari For Friends

Hindi Shayari For Friends

दोस्तों में आज आपके लिए Hindi Shayari For Friends लेके आया हु उम्मीद करता हु आपको ये शायरी पसंद आएगी |   ये शायरी आप आपके खास दोस्तों भेज सकते है उनको अपने दोस्ती का एहसास दिलाने के लिए |

Hindi Shayari For Friends ये पोस्ट उन लोगो के लिए है जो अपने दोस्तों से बहुत प्यार करते और उनको अपना प्यार जताना चाहते है शायरी के जरिए |

Hindi Shayari For Friends

 चलिए शुरू करते है Hindi Shayari For Friends

रोशनी के लिए दिया जलता है,
शमा के लिए परवाना जलता है,
कोई दोस्त न हो तो दिल जलता है,
और दोस्त आप जैसा हो तो जमाना जलता है|

कही अँधेरा तो कही शाम होगी,
मेरी हर ख़ुशी तेरे नाम होगी,
कभी मांग कर तो देख हुंसे ऐ दोस्त,
होंठो पर हंसी और हथेली पर जान होगी | 

दिन बीत जाते है सुहानी यादे बनकर,
बाते रह जाती है कहानी बनकर,
पर दोस्त तो हमेशा दिन के करीब रहते है
कभी मुस्कान तो कभी, आँखों का पानी बनकर 

दोस्त का प्यार दुआ से काम नहीं होता,
दोस्त दूर हो फिर भी कोई गम नहीं होता,
प्यार में अक्सर काम हो जाती है दोस्ती,
पर दोस्ती में प्यार कभी काम नहीं होता |  

तेरी दोस्ती को पलकों पर सजायेंगे,
जब तक ज़िन्दगी है साथ निभाएंगे,
देने को तो कुछ नहीं हमारे पास,
पर तेरी ख़ुशी मांगने खुदा के पास जरूर जायेंगे | 

दोस्ती तो झोंका है हवा का,
दोस्ती तो एक नाम है वफ़ा का,
औरो के लिए कुछ भी हो चाहे,
मेरे लिए दोस्ती एक हसीं तौफा है खुदा का | 

खुशबु की तरह मेरी सांसो में रहना,
लहू बांके मेरी नस-नस में बहना,
दोस्ती होती है रिश्तो का अनमोल गहना,
इसीलिए दोस्त को कभी अलविदा न कहना | 

हम आपने आप पर गुरुर नहीं करते,
किसी को प्यार करने पर मजबूर नहीं करते,
जिसे एक बार दिल से दोस्त बना ले,
उसे मरते दम तक दिल से दूर नहीं करते | 

रिश्तो की यह दुनिया है निराली,
सब रिश्तो में प्यारी है दोस्ती तुम्हारी,
मंजूर है आंसू भी आँखों में हमारी,
अगर आ जाये मुस्कान होंठो पर तुम्हारी | 

 एहसास बहुत होगा जब छोड़कर जायेंगे,
रोयेंगे बहुत मगर आंसू नहीं आएंगे ,
जब साथ कोई न दे , तो आवाज हमे देना,
आसमान पर होंगे तो भी लौट के आएंगे |

उम्मीद करता आपको Hindi Shayari For Friends ये पोस्ट पसंद आया हो | अगर पसंद आया हो तो ये Post अपने दोस्तों के साथ Share करना मत भूलिए| 
Hindi Shayari For Friends Hindi Shayari For Friends Reviewed by Admin on 10:18 PM Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.