Best Shayari of Rahat Indori | राहत इंदौरी

Best Shayari of Rahat Indori

नमस्कार दोस्तों, आज हम आपके लिए लेके आये है रहत इन्दोरी शायरी (Best Shayari of Rahat Indori)|
डॉ राहत इन्दोरी जी हिंदी और उर्दू के एक मशहूर शायर है | राहत इन्दोरी जी का जन्म 1 जनवरी 1950 में इंदौर, मध्य प्रदेश में हुआ था | 


Best Shayari of Rahat Indori

तुफानो से आँख मिलाओ, सैलाबों पे वार करो !
मल्लाहो का चक्कर छोड़ो, तैर कर दरिया पार करो !!
फूलो की दुकाने खोलो, खुशबु का व्यापर करो !
इश्क खता हैं, तो ये खता एक बार नहीं, सौ बार करो !!

सूरज, सितारे, चाँद मेरे साथ में रहे,
जब तक तुम्हारे हाथ मेरे हाथ में रहे!!
शाखों से टूट जाए वो पत्ते नहीं हैं हम,
आंधी से कोई कह दे की औकात में रहें!!

मौसमो का ख़याल रखा करो
कुछ लहू मैं उबाल रखा करो
लाख सूरज से दोस्ताना हो
चंद जुगनू भी पाल रखा करो

अब हम मकान में ताला लगाने वाले हैं,
पता चला हैं की मेहमान आने वाले हैं||

Best Shayari of Rahat Indori



बुलाती है मगर जाने का नईं
ये दुनिया है इधर जाने का नईं,
मेरे बेटे किसी से इश्क़ कर
मगर हद से गुजर जाने का नईं,
सितारें नोच कर ले जाऊँगा
में खाली हाथ घर जाने का नईं,
वबा फैली हुई है हर तरफ
अभी माहौल मर जाने का नईं,
वो गर्दन नापता है नाप ले
मगर जालिम से डर जाने का नईं,

ऐसा लगता है लहू में हमको, कलम को भी डुबाना चाहिए था
अब मेरे साथ रह के तंज़ ना कर, तुझे जाना था जाना चाहिए था
मुझसे पहले वो किसी और की थी, मगर कुछ शायराना चाहिए था
चलो माना ये छोटी बात है, पर तुम्हें सब कुछ बताना चाहिए था
Best Shayari of Rahat Indori | राहत इंदौरी Best Shayari of Rahat Indori | राहत इंदौरी Reviewed by Admin on 10:43 PM Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.